क्या आप जानना चाहते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) क्या है? क्रिप्टोकरेंसी को किसने बनाया ? क्रिप्टोकरेंसी को बनाने के क्या कारण थे ? और क्रिप्टोकरेंसी किस तरह हमे कुछ फायदा पंहुचा सकती है ? और अगर आप इन सब बातो के बारे में जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह पे है क्योकि आज हम इन्ही सारे बातो को विस्तार से समझेंगे
क्या है क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) ?
cryptocurrency

क्रिप्टोकरेंसी को समझने से पहले हमें यह समझने की आवश्यकता है कि क्रिप्टोकरेंसी शब्द का अर्थ क्या है? तो अगर हम क्रिप्टोकरेंसी शब्द को देखते हैं तो हमें 2 शब्द मिलेंगे, पहला क्रिप्टो और दूसरा मुद्रा | अब सवाल यह है कि क्रिप्टो शब्द का क्या मतलब है और यह शब्द कहां से आया ? तो क्रिप्टो शब्द शब्द क्रिप्टोग्राफी से लिया गया है जो की ग्रीक शब्द “क्रिप्टोस” से आया है | क्रिप्टोग्राफी एक ऐसी तकनीक है जिसके द्वारा हम अपने डेटा को एक स्थान से दूसरे स्थान पर दूसरे स्थान पर सुरक्षित रूप से भेज सकते हैं, वास्तव में क्रिप्टोग्राफ़ी में, हम अपने डेटा को एक secret code में बदलते है और इस प्रक्रिया को हम “ENCRYPTION” बोलते है | यदि कोई व्यक्ति या मशीन encrypted डेटा को पढ़ना चाहता है तो पहले encrypt किए गए डेटा को readable form में बदलने की आवश्यकता होती है | और इसके लिए, एक secret key की आवश्यकता भी पड़ती है जिसे “decryption key” के नाम से जाना जाता है| और इसी decryption key के इस्तेमाल से encrypt किये गये डाटा को वापस से readable form में बदलने के process को decryption बोला जाता है | तो ये तो बात हो गयी क्रिप्टो शब्द की अब आते है दुसरे शब्द पर जो की मुद्रा है सरल भाषा में तो मुद्रा सिर्फ एक तरह का माध्यम होता है जो की किसी वस्तु या सेवाओ के लेन-देन में इस्तेमाल किया जाता है और हर देश की अपनी एक मुद्रा होती है जैसे की भारत में रूपये और अमेरिका में डॉलर| तो अब जब हम क्रिप्टो और मुद्रा के अर्थ को समझ चुके हैं और अगर हम दोनों शब्दों के अर्थ को जोड़ते हैं तो हम क्रिप्टोकरेंसी को कुछ इस तरह define कर सकते हैं कि , ” क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल करेंसी है जो हमारे transactions को सुरक्षित रूप से complete करती है| “

क्रिप्टोकरेंसी को किसने बनाया ?

वर्ष 2009 में बिटकॉइन के अज्ञात आविष्कारक, सतोशी नाकामोतो ने क्रिप्टोकरेंसी का आविष्कार किया। उनके अनुसार वो एक “A Peer-to-Peer Electronic Cash System” बनाना चाहते थे | Peer-to-peer system एक ऐसी प्रकिया है जिसमे सिर्फ वही लोग involve हो जो उस system से जुड़े हुए होते है और ऐसे किसी भी system को जब हम transaction में इस्तेमाल करते है तो इसे हम “Peer-to-peer transaction system” बोलते है|

क्रिप्टोकरेंसी बनाने के मुख्य उद्देश्य क्या थे ?

क्रिप्टोकरेंसी का मुख्य उद्देश्य है: –

1- क्रिप्टोकरेंसी को बनाने का पहला उद्देश्य यह था कि एक ऐसा transaction system बनाया जाये जहाँ सिर्फ उन्ही लोगो का involvement हो जो उस transaction से जुड़े हो | 2- क्रिप्टोकरेंसी को बनाने का दूसरा उद्देश्य यह था कि एक ऐसी मुद्रा बनाया जाये जिसका मूल्य सभी देशों में एक ही हो |उदाहरण के लिए जब हम किसी दूसरे देश की यात्रा करते हैं तो पहले हमें अपनी मुद्राओं को उनकी मुद्राओं के साथ बदलना होता है इसलिए इस समस्या को दूर करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करना सबसे अच्छा तरीका है क्योंकि क्रिप्टोकरेंसी की कीमत सभी देशो में लगभग समान है और हमे हर जगह इन्हें बदलने की भी आवश्यकता नही पड़ती यही कारण है कि हम यह भी कह सकते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी एक “Decentralized Currency” है | 3- क्रिप्टोकरेंसी को बनाने का तीसरा उद्देश्य यह था कि हम अपने पैसे को एक जगह से दूसरे जगह पर बड़े ही आसानी से और कम समय में भेज सकते हैं और भेजे गये पैसो पर हमे बहुत कम शुल्क भी देना पड़ता है। Note: यहां हम किसी भी विशेष कॉइन जैसे बिटकॉइन, etherium आदि के बारे में बात नहीं कर रहे हैं। हम क्रिप्टोकरेंसी के बारे में बात कर रहे हैं।

तो ये थे क्रिप्टोकरेंसी के कुछ महत्वपूर्ण उद्देश्य |

क्रिप्टोकरेंसी हमारे लिए क्यों आवश्यक है?

क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानने के बाद यदि आपको अभी भी संदेह है कि आपको क्रिप्टोकरेंसी की आवश्यकता क्यों है और यह हमें क्या लाभ दे सकता है तो आपको नीचे दिए गए points पर विचार करना चाहिए:

बेहतर सुरक्षा

जैसा कि आप जानते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी एक decentralized मुद्रा है और आपके लेनदेन में किसी भी तीसरे पक्ष या व्यक्तियों की कोई involvement नहीं है, क्योकि यह क्रिप्टोग्राफ़ी की concept का भी इस्तेमाल करता है इसलिए क्रिप्टोकरेंसी के सभी लेन-देन हमारे मुद्रा में किये गये लेन-देन के तुलना में अधिक सुरक्षित होते हैं।

पैसा आपका निर्णय आपका

आप जानते है की हमारी मुद्रा रिजर्व बैंक के दायरे में आती है और हमे उन सभी नियमो का पालन करना पड़ता है जी रिजर्व बैंक हमारे मुद्रा के बारे में बनाती है और कई बार तो ऐसी भी परिस्थितिया आ सकती है जब सरकार कुछ मुद्रा के इस्तेमाल को रोक दे जैसे की 500 और 1000 के नोट के साथ हुआ था लेकिन क्रिप्टोकरेंसी के साथ ऐसा बिलकुल भी नहीं है अगर आपके पास कोई क्रिप्टोकरेंसी है और सरकार इसे अपने देश में इस्तेमाल करने से रोक भी दे तो आप उसे किसी और देश में जाकर इस्तेमाल कर सकते है जहाँ पर उसे इस्तेमाल किया जाने की इजाजत हो |

भेजे पैसे कही भी कभी भी

आज की दुनिया में देश में एक स्थान से दूसरे स्थान पर पैसे भेजने के लिए सिर्फ कुछ सेकेंड्स लगते है लेकिन क्या होगा अगर आपको अपना पैसा एक देश से दूसरे देश में भेजना हो तो उस मामले में, आपके लेनदेन को पूरा करने में 2-3 दिन लग सकते हैं और कुछ मामलों में, आपको बहुत सारी प्रक्रियाओं का भी पालन करना होगा लेकिन क्रिप्टोकरेंसी के मामले में, आप अपने पैसे को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने के लिए स्वतंत्र हैं, चाहे वह स्थान देश में या देश के बाहर हो। आप अपने पैसे को कुछ घंटों में भेज सकते हैं और कुछ क्रिप्टोकरेंसी आपको अपने पैसे कुछ मिनट के भीतर भी भेजने करने की सुविधा प्रदान करते हैं और इसके लिए आपको भेजे गये पैसो पर शुल्क भी बहुत कम देना पड़ता हैं।

दोस्तों उम्मीद हैं कि इस article ने आपको क्रिप्टोकरेंसी , इसके उपयोग और लाभ के बारे में जानने में मदद की। हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपने विचारों को बताएं और यदि आपको यह article पसंद आया तो आप हमारे Youtube चैनल को subscribe कर सकते है जहाँ आपको क्रिप्टोकरेंसी से सम्बंधित काफी videos मिलती रहेंगी | आप हमे Facebook,Twitter,Instagram और Telegram पे भी फॉलो कर सकते है|

7 comments

  1. Newcastle’s game against Queens Park Rangers on Saturday has become a must-win game — so much so that Alan Pardew barely acknowledged the Europa League draw. Pardew blames Europa League for Newcastle’s poor domestic form

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *